YES NEWS

वर्ष 2019 की देश की प्रमुख साइवर क्राइम के वारदात – YES NEWS

साल 2019 में भी अपराधियों के हौसले बुलंद नजर आए. अपराधी आधुनिक तरीके अपना कर जुर्म की वारदातों को अंजाम दे रहे हैं. इस साल साइबर क्राइम के कई चौंकाने वाले मामले सामने आए हैं, लेकिन कुछ ऐसे मामले भी थे जो सुर्खियों में बने रहे. हम आपको बता रहे हैं साइबर अपराध के वो 5 बड़े मामले, जिन्हें जानकर पुलिस भी हैरान रह गई.

आकाश अंबानी के नाम पर ठगी

2019 के अप्रैल-मई में गुजरात के सूरत में एक सनसनीखेज मामला सामने आया जिसने गुजरात के साइबर सेल में हड़कंप मचा दिया था. दरअसल, मुकेश अंबानी के बेटे आकाश अंबानी के नाम से किसी ने ट्व‍िटर अकाउंट बना लिया था. इस पर कई फॉलोअर भी जुड़ गए थे. ऐसे ही एक लड़की ने मैसेज पर बात करना शुरू की और आकाश अंबानी के नाम पर उसके करीब 8 लाख रुपये चले गए. उसने चैटिंग करते हुए उस लड़की से कहा था कि मैं आईपीएल में पैसे हार गया हूं, घर पर बता नहीं सकता, प्लीज मेरी हेल्प कर दो.

सांसद के सैलरी अकाउंट से उड़ाए लाखों

कर्नाटक से बीजेपी सांसद शोभा करंदलाजे के सैलरी अकाउंट से बिना अलर्ट मैसेज के करीब 16 लाख रुपये गायब होने का मामला भी सुर्खियों में रहा. सांसद ने इसकी शिकायत दिल्ली के नॉर्थ एवेन्यू पुलिस स्टेशन में की थी. जब वह बैंक की पासबुक अपडेट कराने के लिए बैंक गईं थी तब उन्हें पता चला कि उनके खाते से 15 लाख 62 हजार रुपये गायब हैं. उनके अकाउंट को हैक कर दिसंबर 2018 में कई बार ट्रांजेक्शन किया गया था. हालांकि यह मामला जनवरी 2019 में सामने आया.

डेटिंग ऐप पर लड़की की धमकी

डेटिंग ऐप टिंडर पर चैटिंग करने वाले एक लड़के के उस वक्त होश उड़ गए, जब उसके साथ चैटिंग करने वाली एक लड़की से उसकी तीखी नोंक-झोंक हो गई. इसके बाद उस लड़की ने लड़के को धमकी दे डाली थी कि तू जानता नहीं है कि मैं कौन हूं? जब दिल्ली पर न्यूक्लियर धमाका होगा और राष्ट्रपति भवन उड़ेगा, तब पता चलेगा. चैट खत्म होते ही लड़के के पसीने छूट गए. उसने फौरन 100 नंबर पर कॉल करके पुलिस को इस बारे में जानकारी दी.

चीनी हैकर्स ने उड़ाए 131 करोड़

चीनी हैकर्स ने एक इटली की कंपनी की भारतीय शाखा से 131 करोड़ रुपये उड़ा लिए थे. ऐसा माना जा रहा है कि इस फर्जीवाड़े के लिए चीनी हैकर्स ने फिशिंग ई-मेल का इस्तेमाल किया. यह ऐसा संदिग्ध ई-मेल होता है जिसके द्वारा किसी व्यक्ति या संस्था के बारे में संवेदनशील जानकारी जैसे यूजर नेम, पासवर्ड और क्रेडिट कार्ड का विवरण आदि हासिल कर लिया जाता है. इस मामले में पुलिस ने केस दर्ज किया था. टेक्नीमोंट प्राइवेट लिमिटेड (TCMPL) नाम की इस कंपनी का मुंबई के मलाड में रजिस्टर्ड ऑफिस है. कंपनी ने 5 जनवरी 2019 को इसकी शिकायत दर्ज कराई थी.

कारोबारी के खाते से 2 करोड़ गायब

मुंबई में सिम स्वैपिंग से ठगी का एक ऐसा मामला सामने आया है, जिसे जानकर आपके होश उड़ जाएंगे. यहां के माहिम इलाके में रहने वाले बिजनेसमैन वी. शाह के मोबाइल पर 27-28 दिसंबर की रात दो नए नंबरों से 6 मिस कॉल आए और इसके कुछ ही देर बाद उनके खाते से 2 करोड़ रुपये निकाल लिए गए. जब इस बात का पता उन्हें लगा तब तक उनके खाते से 14 अलग-अलग खातों में यह रकम ट्रांसफर हो गई थी. इसकी जानकारी भी जनवरी 2019 में बाहर आई.

Designed By - Fragron Infotech, Call - 7000131032
WhatsApp chat