YES NEWS

चन्नाउड़ी प्रबंधक की गुंडागर्दी

शहडोल: गरीब किसानों की फसल का उचित शासकीय मूल्य दिलाने की नियत से शासन द्वारा उपार्जन केंद्रों कीg व्यवस्था शासन द्वारा सुनिश्चित की गई है लेकिन बुढार ब्लॉक के चन्नौडी लेंस प्रबंधक कमलेश श्रीवास्तव भ्रष्टाचार का खुला खेल खेल रहे हैं जहां पर बैठे किसान चीख चीख कर कैमरे के सामने ही भ्रष्टाचार का खुलासा भी कर रहे हैं लेकिन अपना भ्रष्टाचार के पैसे और वरिष्ठ अधिकारियों के बीच में अपनी पैठ के बलबूते कमलेश श्रीवास्तव जैसा लेंस प्रबंधक अपनी मनमानी से पांच आता नहीं दिख रहा है खुली चुनौती देते हुए कमलेश श्रीवास्तव द्वारा मामले से पल्ला झाड़ता कैमरे में कैद भी हो गया वही अपने तानाशाही पूर्ण रवैया के चलते किसानों से उनकी फसल के बदले मोटी रकम वसूलने का कारनामा प्रबंधक कमलेश श्रीवास्तव द्वारा किया जा रहा है लेकिन मूक बधिर प्रशासन को किसानों की समस्याओं से कोई लेना देना नहीं है केवल खानापूर्ति और कागजी कार्रवाई तक स्वयं को सीमित रखने के कारण ही ऐसे प्रबंधक भ्रष्टाचार का खुला खेल खेल रहे हैं

कैमरे को देखते ही किसान ने लगाया आरोप
प्रबंधक की काली करतूतों को उजागर करने के लिए खरीदी केंद्र में बैठा गरीब किसान लालदास पाव ने घूस की राशि मांगे जाने का आरोप कैमरे के सामने प्रबंधक के ऊपर लगाया वहीं पर खड़े प्रबंधक ने कोई उत्तर देने के बजाय धमकी देते हुए जो कर सकते हो कर लो जैसी बातों को बोलकर अपना पल्ला झाड़ लिया एक शासकीय सेवक होने के बावजूद अपने गुंडागर्दी पूर्ण रवैया से क्षेत्र में प्रभाव बनाने वाले प्रबंधक कमलेश श्रीवास्तव के ऊपर पहले भी यदि सूत्रों की माने तो गंभीर आरोप लगते रहे हैं जिसमें किसानों की फसल बेचने के एवज में मोटी रकम की मांग, खाद्यान्न वितरण में अनियमितता, किसानों की जानकारी के बाहर और बिना उनकी अनुमति के उनके ऊपर लोन का बकाया जैसे कई आरोप शामिल है और यदि सूत्रों की मानें तो ऐसे आरोपों पर कोई कार्यवाही नहीं होने के कारण कमलेश श्रीवास्तव अपने रवैया से बाज नहीं आ रहे हैं

कौन है लाल दास पाल

लाल दास पाल एक किसान है जो 7 जनवरी को 103 बोरी 8 जनवरी को 73 बोरी और 14 जनवरी को 52 बोरी धान बेचने के लिए उपार्जन केंद्र पहुंचा था जहां पर 14 जनवरी को 52 बोरी खरीदने के एवज में प्रबंधक द्वारा उससे ऊपरी घूस की मांग की गई जिसे देने में समर्थ नहीं था इसलिए प्रबंधक द्वारा उसके 52 बोरे का हिसाब किताब गायब कर दिया गया।एक अप किसान उपार्जन केंद्र की चौखट में बैठे न्याय का इंतजार कर रहा है लेकिन कमलेश श्रीवास्तव और किसान के आमने-सामने कैमरे के समक्ष हुई बातचीत के दौरान किसान द्वारा लगाए गए गंभीर आरोप का कोई भी जवाब ना देते हुए गुस्से से चलाते हुए कमलेश श्रीवास्तव ने किसान को भगा दिया वही मीडिया के किसी भी प्रश्न का उत्तर उक्त मामले पर देने से साफ साफ मना करते हुए कहा गया कि यहां ऐसे ही चलता है सबको पता है जिसको जो छापना है छाप ले

इनका कहना है
**आप किसान की जानकारी मुझे दिए हैं कल ही मैं तहसीलदार को भेजकर इसकी जांच करवा लूंगा जो भी गलत होगा उस पर उचित प्रधानी कार्रवाई की जाएगी।**

धर्मेंद्र मिश्रा
एस.डी.एम जैतपुर

Designed By - Fragron Infotech, Call - 7000131032
WhatsApp chat