करारी हार से हताश कांग्रेसी राष्ट्रीय अध्यक्ष का जन्मदिन भूले

फतेहपुर। लोकसभा चुनाव में कांग्रेस पार्टी को मिली करारी हार से कार्यकर्ता कितने हताश हो चुके है जिसका अंदाजा लगाया जा सकता है कि पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष का जन्मदिन ही भूल गये। एक ओर जहां देशभर में कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के जन्मदिन की बधाई देने वालों का ताँता लगा था प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी द्वारा सुबह 8.23 पर ट्वीट कर राहुल गांधी को जन्मदिन की बधाई देने के साथ ही उनके दीर्घायु होने की कामना की। वहीं रक्षामंत्री राजनाथ सिंह द्वारा सुबह 8.55 पर ट्वीर कर बधाई दी गयी जबकि अमेठी से राहुल गांधी को चुनाव हराने वाली केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी द्वारा भी 8.30 पर पीएम मोदी के ट्वीट को रिट्वीट कर बधाई दी गयी। कांग्रेस पार्टी के राजनैतिक प्रतिद्वन्दी दल के नेताओ द्वारा भले ही कांग्रेस पार्टी के मुखिया को जन्मदिन की बधाई दी जा रही हो लेकिन जनपद में कांग्रेस पार्टी का ढांचा कितना चरमरा गया है कि राष्ट्रीय अध्यक्ष के जन्मदिन पर जिला कांग्रेस पार्टी व शहर कमेटी द्वारा राष्ट्रीय अध्यक्ष के जन्मदिन पर भारी भरकम कार्यक्रम करना तो दूर की बात है। जन्मदिन मनाने की औपचारिकता भी नही निभाई गयी। जनपद में कांग्रेस पार्टी के जिलाध्यक्ष अखिलेश पाण्डेय व शहर अध्यक्ष मो आरिफ गुड्डा के नेतृत्व में टीम मौजूद है। जबकि बिन्दकी व खागा तहसील में भी पार्टी की इकाई गठित है। जनपद के कोने कोने में कांग्रेस पार्टी से अलग अलग तरह के चुनाव लड़ चुके प्रत्याशियो की पूरी फौज है। जबकि ग्राम सभा में प्रधान व नगर निकायों में सभासद भी है। वही पदाधिकारी, पूर्व पदाधिकारी व कार्यकर्ता मौजूद होने के बाद भी जनपद में कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष का जन्मदिन न मनाया जाना चर्चा का विषय बना रहा। लोग जहाँ इसे लोकसभा में पार्टी को मिली हार वजह बता रहे है और कांग्रेस कार्यकर्ताओ की हताशा के कारण ऐसा होना बताया जा रहा है। 55 वर्षों तक केंद्र में सरकार चलाने व कई प्रदेशों में अब भी पार्टी की सरकार होने के बाद भी जनपद के कांग्रेस कार्यकर्ताओ द्वारा राष्ट्रीय पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष का जन्मदिन भूल जाना कार्यक्रर्ताओ की हताशा के साथ ही शीर्ष नेतृत्व के प्रति गंभीरता न होना व बेहद दुःखद है।
रिपोर्ट – प्रियंका यादव, ब्यूरो चीफ