भारत के लिए बड़ी कूटनीतिक जीत’, मसूद के ग्लोबल टेररिस्ट घोषित होने पर बोले अरुण जेटली – uk mishra

मसूद अजहर (Masood Azhar) के ग्लोबल टेररिस्ट (Global Terrorist) घोषित किए जाने को वित्त मंत्री अरुण जेटली (Arun Jaitley) ने भारत के लिए बड़ी कूटनीतिक जीत बताया। अरुण जेटली ने गुरुवार को कहा, ‘भारत के लिए यह बड़ी कूटनीतिक जीत है।’

भाषा के अनुसार, वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि अगर भारत जीतता है तो, सभी भारतीय जीतते हैं, लेकिन विपक्षी मित्रों को लगता है कि खुशी में शामिल होने पर उन्हें राजनीतिक कीमत चुकानी पड़ेगी।

बता दें कि संयुक्त राष्ट्र ने जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर को बुधवार को वैश्विक आतंकवादी घोषित कर दिया था। भारत के लिए यह एक बड़ी कूटनीतिक जीत मानी जा रही है। दरअसल, भारत ने इस मुद्दे पर पहली बार एक दशक पहले इस वैश्विक संस्था का रूख किया था। संरा (यूएन) सुरक्षा परिषद की प्रतिबंध समिति के तहत पाकिस्तानी आतंकी संगठन के सरगना को ”काली सूची में डालने के एक प्रस्ताव पर चीन द्वारा अपनी रोक हटा लिए जाने के बाद संयुक्त राष्ट्र ने यह घोषणा की।

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि सैयद अकबरूद्दीन ने ट्वीट कर जानकारी दी कि बड़े, छोटे, सभी एकजुट हुए। मसूद अजहर को संयुक्त राष्ट्र प्रतिबंध सूची में आतंकवादी घोषित किया गया है। समर्थन करने के लिए सभी का आभार। संरा समिति ने एक मई 2019 को अजहर को अलकायदा से संबद्ध के तौर पर सूचीबद्ध किया।

जैश ए मोहम्मद का सहयोग करने का संकेत देने वाली गतिविधियों के लिए धन जुटाने, योजना बनाने, उसे प्रोत्साहित करने, तैयारी करने या हथियारों की आपूर्ति करने या आतंकी हरकतों के लिए भर्तियां करने को लेकर उसे इस सूची में डाला गया है। हालांकि, जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को हुए आतंकवादी हमले का कोई जिक्र नहीं किया गया, जबकि इस हमले की जिम्मेदारी जैश ने ली थी। इस हमले में सीआरपीएफ के 40 जवान शहीद हो गए थे।