IAF Air Strikes: LoC पार जाकर ध्वस्त किए जैश के आतंकी कैम्प – UK MISHRA

भारत ने मंगलवार तड़के पाकिस्तान के भीतर हवाई हमले कर कई आतंकवादी शिविरों को निशाना बनाया। सूत्रों ने यह जानकारी दी। सूत्रों ने पीटीआई को बताया कि भारतीय वायुसेना के विभिन्न लड़ाकू विमानों ने खैबर पख्तूनख्वा प्रांत के बालाकोट में पाकिस्तान स्थित कई आतंकवादी समूहों के शिविरों को सफलतापूर्वक नष्ट कर दिया।

– भारतीय समयानुसार 3 बजकर 30 मिनट पर भारतीय वायुसेना के 12 मिराज 2000 लड़ाकू विमान ने 1000 किलो बम आतंकियों के लॉन्च पैड पर गिराए। जिसमें जैश के सभी कैम्प तबाह हो गए। इस हमले में 200 से 300 आतंकियों के मारे जाने की खबर है। इस कार्रवाई में जैश के शीर्ष कमांडर और ट्रेनर मारे गए।

– पाकिस्तानी ने एफ 16 को भारतीय वायुसेना मिराज-2000 के खिलाफ जवाबी कार्रवाई के लिए उतारा था, लेकिन मिराज की ताकत देखकर वे वापस लौट गए। वेस्टर्न एयर कमांड ने ऑपरेशन का समन्वय किया। ये पहली बार है, जब भारतीय वायु सेना के फाइटर जेट ने नियंत्रण रेखा (LoC) के पार जाकर हमला किया है। इस हमले के लिए वायुसेना ने अवेक्स तकनीक का इस्तेमाल किया। खबरों के मुताबिक लड़ाकू विमानें ने करीब 21 मिनट तक आतंकी ठिकानों पर बम बरसाए।

 ये पूरा ऑपरेशन राष्ट्रीय सुरक्षा एजेंसी (एनएसए) के देखरेख में किया गया, जिसका नेतृत्व एनएसए प्रमुख अजीत डोभाल कर रहे थे। एनएसए ने अपनी कार्रवाई को 100 फीसदी सफल बताया है।

– विदेश सचिव विजय गोखले ने नई दिल्ली में संवाददाताओं को बताया कि विश्वसनीय खुफिया जानकारी मिली थी कि 12 दिन पहले पुलवामा हमले को अंजाम देने के बाद जैश ए मोहम्मद भारत में एक और आत्मघाती आतंकी हमला करने की साजिश रच रहा है और फिदायीन जिहादियों को इस काम के लिए प्रशिक्षित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस जानकारी के बाद सीमा के दूसरी ओर जैश-ए-मोहम्मद के सबसे बड़े आतंकी शिविर पर गैर-सैन्य एकतरफा हमले किए गए।

– गोखले ने बताया कि भारतीय वायु सेना के मंगलवार सुबह चलाये गए अभियान में आतंकी संगठन जैश ए मोहम्मद के सबसे बड़े प्रशिक्षण शिविर को निशाना बनाया गया। इस अभियान में बड़ी संख्या में जैश के आतंकवादी, प्रशिक्षक, शीर्ष कमांडर और जिहादी मारे गए। इस शिविर का नेतृत्व मौलाना यूसुफ अजहर उर्फ उस्ताद गौरी कर रहा था, जो जैश प्रमुख मसूद अजहर का बहनोई था।

– गोखले ने कहा कि हमने पाक को आतंकी हमले के सबूत कई बार दिए लेकिन पाकिस्तान ने उन पर कोई कार्रवाई नहीं की। यह ऐहतियातन उठाया गया कदम और गैर सैन्य कार्रवाई थी जिसका मकसद आतंकी ठिकानों को निशाना बनाना था। हमने जैश-ए-मोहम्मद के ठिकानों को निशाना बनाया जो घने जंगल में पहाड़ियों पर थे और नागरिक इलाकों से दूर थे।

 

– LoC पार भारतीय वायुसेना की बड़ी कार्रवाई के बाद पीएम मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट कमेटी की बैठक सात लोक कल्याण मार्ग पर हुई। वित्त मंत्री अरुण जेटली, विदेश मंत्री सुषमा स्वराज, गृह मंत्री राजनाथ सिंह और रक्षा मंत्री निर्मला सीतारमण बैठक में मौजूद हैं। आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजित डोभाल, प्रधानमंत्री कार्यालय के अन्य शीर्ष अधिकारी और सुरक्षा विभाग से जुड़े तमाम आला अधिकारी बैठक में मौजूद रहे। बीच तीनों सेनाओं को किसी भी स्थिति से निपटने के लिए पूरी तरह चौकस तथा मुस्तैद रहने को कहा गया है।

– पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान ने भारत के हमले के बाद आपात बैठक बुलाई है। इसके साथ ही पाक के विदेश मंत्री ने हमले की बात कबूल की है।

– भारतीय वायु सेना के द्वारा किए गए हमले के बाद बिहार के औरंगाबाद में लोग सड़क पर उतर आए। मंगलवार की सुबह सैकड़ों की संख्या में युवा शहर के रमेश चौक पर जमा हो गए और भारत माता की जय तथा वंदे मातरम के नारे लगाए। इस दौरान आतिशबाजी की गई और लोगों के बीच में मिठाई का वितरण भी किया गया।

 

– पाकिस्तान की सेना ने मंगलवार को आरोप लगाया कि भारतीय वायुसेना ने मुजफराबाद सेक्टर में नियंत्रण रेखा (एलओसी) का उल्लंघन किया है। सेना की मीडिया शाखा अंतर-सेवा जन संपर्क (आईएसपीआर) के महानिदेशक मेजर जनरल आसिफ गफूर ने ट्वीट किया है, ”भारतीय वायुसेना के विमान मुजफराबाद सेक्टर से घुसे। पाकिस्तानी वायुसेना की ओर से समय पर और प्रभावी जवाब मिलने के बाद वह जल्दीबाजी में अपने बम गिरा कर बालाकोट के करीब से बाहर निकल गए। जानमाल को कोई नुकसान नहीं हुआ है।