भूतपूर्व प्रधानमंत्री के जन्म दिवस के अवसर पर किसान सम्मान दिवस एवं किसान मेले का आयोजन संपन्न

  • किसानों की समस्याओं का निस्तारण सर्वोच्च प्राथमिकता पर-जिलाधिकारी

कौशाम्बी । स्व0 चौधरी चरण सिंह (भूतपूर्व प्रधानमंत्री) के जन्म दिवस के अवसर पर कलेक्ट्रेट स्थित सम्राट उदयन सभागार में किसान सम्मान दिवस एवं किसान मेले का आयेजन किया गया। इस अवसर पर जिलाधिकारी मनीष कुमार वर्मा के द्वारा स्व0 चौधरी चरण सिंह के चित्र पर माल्यार्पण एवं द्वीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया गया। किसानों को सम्बोधित करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि स्व0 चौधरी चरण सिंह किसानों के मसीहा थे। वे हमेशा किसानों की उन्नति के लिए प्रयत्नशील रहते थे। जिलाधिकारी ने कहा कि उनके जन्म दिवस को किसान सम्मान दिवस के रूप में मनाया जा रहा है। कृषक सम्मान दिवस के अवसर पर जिलाधिकारी ने कृषि विभाग, मत्स्य पालन विभाग, उद्यान विभाग तथा पशु पालन विभाग से सम्बन्धित कृषकों को अपने-अपने क्षेत्र में उत्कृष्ठ उत्पादन करने के लिए उनको माल्यार्पण कर एवं प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। सम्मानित किये जाने वाले किसानों में कृषि क्षेत्र से जनपद स्तरीय कुल 08 किसानों को तथा ब्लॉक स्तरीय कुल 16 किसानों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। सम्मानित होने वाले किसानों में गेहूं उत्पादन, धान उत्पादन, एव चना उत्पादन में उत्कृष्ठ उत्पादन करने के लिए प्रथम तथा द्वितीय स्थान प्राप्त करने वाले जनपद स्तरीय कुल 08 किसानों को प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। सम्मानित होने वालों में शिव सम्पत सिंह को गेंहू उत्पादन में प्रति हेक्टेयर 48 कुन्तल उत्पादन करने हेतु प्रथम तथा ऊधौ सिंह को प्रति हेक्टेयर 47 कुन्तल उत्पादन हेतु द्वितीय पुरस्कार से प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। इसी तरह दातादीन को चना उत्पादन में 20 कुन्तल प्रति हेक्टेयर हेतु प्रथम तथा अली असगर को 18 कुन्तल प्रति हेक्टेयर हेतु द्वितीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया। धान उत्पादन में रिजवान अहमद को 72.72 कुन्तल प्रति हेक्टेयर तथा  इम्माउद्दीन को 64 कुन्तल प्रति हेक्टेयर उत्पादन के लिए प्रथम पुरस्कार तथा मुनेश्वर प्रसाद को 60.40 कुन्तल प्रति हेक्टेयर तथा बचऊलाल को 60 कुन्तल प्रति हेक्टेयर हेतु द्वितीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया। इसी तरह ब्लॉक स्तर के कुल 16 किसानें के सम्मानित किया गया। मत्स्य उत्पादन में अधिक उत्पादन करने वाले जनपद स्तरीय प्रथम 04 पुरस्कार तथा जनपद स्तरीय द्वितीय 04 पुरस्कार से मत्स्य पालकों को सम्मानित किया गया। साथ ही साथ कुल 08 विकास खण्ड स्तर के मत्स्य पालकों को भी सम्मानित किया गया। किसान सम्मान दिवस के अवसर पर आयोजित किसान मेले में औद्यानिक फसलों में उत्कृष्ठ कार्य करने वाले जनपद स्तरीय 04 किसानों को प्रथम तथा 04 किसानों को द्वितीय पुरस्कार से सम्मानित किया गया तथा विकास खण्ड स्तर के भी कुल 08 किसानों को उत्कृष्ठ उत्पादन करने के लिए सम्मानित किया गया। इसी तरह पशु पालन विभाग में भी उत्कृष्ठ कार्य करने वाले लोगो ंको प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया गया। कृषि विज्ञान केन्द्र द्वारा भी दो कृषिको  को सम्मानित किया गया। किसान सम्मान दिवस तथा किसान मेले के आयोजन के अवसर पर जिलाधिकारी ने किसानों को वैज्ञानिक ढंग से खेती करने के लिए कहा। उन्होंने कहा कि वैज्ञानिक एवं तकनीकी खेती के द्वारा ही किसान अपनी आय को बढ़ा सकते है। कहा कि किसान भाई अपनी खेत की मिट्टी का मृदा परीक्षण अवश्य करायें तथा आवश्यकतानुसार खाद एवं बीजों का उपयोग करें तभी वे अपने उत्पादन को बढ़ा सकते है।ं उन्होंने कहा कि सरकार के द्वारा किसानों की उपज को सीधे खरीदकर उनके खातों में उनकी उपज का मूल्य भेजे जाने का प्राविधान किया गया है, जिससे कि किसानों की उपज का लाभ कोई विचौलिया न प्राप्त कर सके। जिलाधिकारी ने कहा कि किसानों की समस्याओं को प्रत्येक दशा में शीर्ष प्राथमिकता पर निस्तारित किया किये जाने हेतु अधिकारियों को दिशा निर्देश दिये गये है। उन्होने कहा कि आवारा पशुओं की समस्या के समाधान के लिए गौ संरक्षण केन्द्रो तथा गौशालाओं का निर्माण कराया जा रहा है। उन्होंने किसानों को कृषि के अलावा कृषि सें सम्बन्धित अन्य क्षेत्रों में कार्य करके अपनी आय को बढ़ाने के लिए कहा । उन्होंने कहा किसान औद्यानिक फसलों, दुग्ध व्यवसाय, मत्स्य पालन सहित अन्य क्षेत्र में कार्य करके अपनी आय को बढ़ा सकते है। जिलाधिकारी ने किसान सम्मान दिवस के अवसर पर सम्मानित होने वाले किसानें को बधाई देते हुए उनसे अपेक्षा की कि वे जनपद के अन्य किसानों को भी अधिक उत्पादन करने वाली तकनीकों के बारे में जानकारी दें जिससे कि जनपद के सभी किसान फसल उत्पादन में उत्कृष्ठ कार्य करते हुए अपनी आय को बढ़ा सके। किसान सम्मान दिवस के अवसर पर उप निदेशक कृषि,कृषि वैज्ञानिक डॉ0 अजय तथा कृषि विभाग के अधिकारियों एंव अन्य कृषि वैज्ञानिकों के द्वारा किसानों को नई-नई तकनीकों के बारे में विस्तार से जानकारी दी गयी। किसान सम्मान दिवस के अवसर पर आयोजित मेले में विभिन्न विभागो के द्वारा अपनी योजनाओं के प्रचार-प्रसार हेतु लगाये गये स्टॉलों का जिलाधिकारी ने फीता काटकर शुभारम्भ किया। इस अवसर पर जिलाधिकारी ने विभिन्न विभागों के द्वारा लगाये गये स्टॉलों का अवलोकन किया गया तथा सम्बन्धित विभागों की योजनाओं के बारे में जानकारी ली। उन्होंने कृषि उत्पादन को बढ़ाने वाली योजनाओं के विषय में किसानों को जानकारी देने के लिए कहा जिससे कि किसान योजनाओं के बारे में जानकारी प्राप्त कर अपनी उपज को बढ़ा सके। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी इन्द्रसेन सिह, जिला विकास अधिकारी विजय कुमार, उप कृषि निदेशक उदयभान सिंह गौतम सहित अन्य संबन्धित विभागों के अधिकारीगणों के साथ-साथ भारी संख्या में कृषकगण उपस्थित रहे।

रिपोर्टर – प्रियंका यादव, ब्यूरो चीफ, कौशाम्बी